बाल श्रमिक विद्या योजना के तहत बच्चों को हर महीने मिलेंगे 1200 रुपये, जल्द करे आवेदन-Bal Shramik Vidya Yojana.

बाल श्रमिक विद्या योजना क्या है?

बाल श्रमिक विद्या योजना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा गरीब परिवारों के बच्चों को शिक्षित करने के लिए शुरू की गई एक योजना है। इस योजना के तहत, राज्य सरकार 8 से 18 वर्ष की आयु के बाल श्रमिकों को प्रति माह 1000 रुपये (लड़कों के लिए) और 1200 रुपये (लड़कियों के लिए) की आर्थिक सहायता प्रदान करती है।

ये पढ़े: Mumbai MHADA Lottery Draw 2023: म्हाड़ा के घरों के लिए लॉटरी ड्रा कब होने वाला है, अभी जानिए...

इस योजना का उद्देश्य क्या है?

इस योजना का उद्देश्य बाल श्रम को रोकना और गरीब परिवारों के बच्चों को शिक्षा के अवसर प्रदान करना है। यह योजना बच्चों को स्कूल जाने और अपने भविष्य को बेहतर बनाने में मदद करती है।

इस योजना के लिए पात्रता क्या है?

ये पढ़े: Kisano Ko Free Bijli: मिलेगा बिजली बिल से छुटकारा, मिलेगी फ्री बिजली....

इस योजना के लिए पात्र होने के लिए, बच्चे को निम्नलिखित शर्तों को पूरा करना होगा:

  • वह 8 से 18 वर्ष की आयु का होना चाहिए।
  • वह बाल श्रम में शामिल होना चाहिए।
  • उसके परिवार की वार्षिक आय 2 लाख रुपये से कम होनी चाहिए।
  • उसके माता-पिता में से एक या दोनों की मृत्यु हो गई हो या विकलांग हों।

इस योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए, बच्चे के माता-पिता को श्रम विभाग की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा। आवेदन के लिए आवश्यक दस्तावेज हैं:

ये पढ़े: National Pension System: अभी कीजिए 100 रुपये सेव करें प्रतिदिन और फिर पाइए 57 हजार पेंशन मासिक...

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

इस योजना के लाभ क्या हैं?

इस योजना के तहत लाभार्थी बच्चों को निम्नलिखित लाभ मिलते हैं:

  • प्रति माह 1000 रुपये (लड़कों के लिए) और 1200 रुपये (लड़कियों के लिए) की आर्थिक सहायता
  • मुफ्त शिक्षा
  • छात्रवृत्ति

इस योजना की समीक्षा

यह एक अच्छी योजना है जो गरीब परिवारों के बच्चों को शिक्षित करने में मदद करती है। यह योजना बाल श्रम को रोकने में भी मदद करेगी। हालांकि, इस योजना में कुछ कमियां भी हैं। उदाहरण के लिए, इस योजना के तहत लाभार्थी बच्चों की संख्या बहुत कम है। सरकार को इस योजना का विस्तार करने और अधिक बच्चों को लाभान्वित करने की आवश्यकता है।

यहाँ कुछ सरल और अलग जानकारी दी गई है:

  • बाल श्रमिक विद्या योजना एक ऐसी योजना है जो गरीब परिवारों के बच्चों को स्कूल जाने और शिक्षित होने में मदद करती है।
  • इस योजना के तहत, राज्य सरकार 8 से 18 वर्ष की आयु के बाल श्रमिकों को प्रति माह 1000 रुपये (लड़कों के लिए) और 1200 रुपये (लड़कियों के लिए) की आर्थिक सहायता प्रदान करती है।
  • इस योजना का उद्देश्य बाल श्रम को रोकना और गरीब परिवारों के बच्चों को शिक्षा के अवसर प्रदान करना है।
  • इस योजना के लिए पात्र होने के लिए, बच्चे को निम्नलिखित शर्तों को पूरा करना होगा:
    • वह 8 से 18 वर्ष की आयु का होना चाहिए।
    • वह बाल श्रम में शामिल होना चाहिए।
    • उसके परिवार की वार्षिक आय 2 लाख रुपये से कम होनी चाहिए।
    • उसके माता-पिता में से एक या दोनों की मृत्यु हो गई हो या विकलांग हों।
  • इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए, बच्चे के माता-पिता को श्रम विभाग की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा।
  • इस योजना के तहत लाभार्थी बच्चों को निम्नलिखित लाभ मिलते हैं:
    • प्रति माह 1000 रुपये (लड़कों के लिए) और 1200 रुपये (लड़कियों के लिए) की आर्थिक सहायता
    • मुफ्त शिक्षा
    • छात्रवृत्ति

Leave a Comment

सरकारी योजना ग्रुप