New Education Policy 2020: अब 4 साल में मिलेगी ग्रेजुएशन की डिग्री, 34 साल बदली एजुकेशन की पॉलिसी

New Education Policy 2020: बीते कुछ सालों में एजुकेशन सिस्टम में काफी बदलाव हुआ है. अब तक ज्यादातर डिग्री कोर्सेस 3 साल के होते थे. लेकिन अब नई शिक्षा नीति 2020 (NEP 2020) को लागू करने के लिए इन ग्रेजुएशन कोर्स की ड्यूरेशन को बदलकर 4 साल किया जा रहा है.

यूजीसी ने इस बारे में जानकारी दी है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 19 सेंट्रल यूनिवर्सिटी समेत 105 यूनिवर्सिटी में 4 ईयर ग्रेजुएशन पॉलिसी शुरू की जा रही है (4 Year Graduation Plan, FYUP Curriculum). यह बदलाव नए एकेडमिक सेशन से लागू हो जाएगा. एडमिशन लेने से पहले आपको भी इस बात की पूरी जानकारी होनी चाहिए (Mission Admission).

ये पढ़े: National Pension System: अभी कीजिए 100 रुपये सेव करें प्रतिदिन और फिर पाइए 57 हजार पेंशन मासिक...

इन सेंट्रल यूनिवर्सिटी में 4 सालों में होंगे ग्रेजुएट दिल्ली यूनिवर्सिटी, तेजपुर यूनिवर्सिटी, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, मौलाना आजाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी, विश्व भारती विश्वविद्यालय, असम यूनिवर्सिटी, जम्मू केंद्रीय यूनिवर्सिटी, सिक्किम यूनिवर्सिटी, नेशनल संस्कृत यूनिवर्सिटी, महात्मा गांधी इंटरनेशनल हिन्दी यूनिवर्सिटी, श्री लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय संस्कृत यूनिवर्सिटी, इंग्लिश एवं फॉरेन लैग्वेज यूनिवर्सिटी, हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल यूनिवर्सिटी, राजीव गांधी यूनिवर्सिटी और हरियाणा, दक्षिण बिहार और तमिलनाडु स्थित सेंट्रल यूनिवर्सिटी में ग्रेजुएशन की पढ़ाई 4 सालों में होगी.

4 साल की डिग्री के हैं कई फायदे 4 वर्षीय ग्रेजुएट कोर्स (एफवाईयूपी) के कई फायदे हैं. इसमें स्टूडेंट्स के पास मल्टीपल एंट्री और एग्जिट का ऑप्शन भी रहेगा. अगर कोई स्टूडेंट किसी वजह से 3 साल से पहले कॉलेज छोड़ देता है और अपनी डिग्री पूरी नहीं कर पाता है तो उसे फिर से पढ़ाई करके अपनी डिग्री पूरी करने की पूरी सुविधा दी जाएगी. आपकी जानकारी के लिए बता दें, यूजीसी ने ऑप्शन बेस्ड क्रेडिट सिस्टम (सीबीसीएस) को भी नई शिक्षा नीति में शामिल किया है. 40 डीम्ड टु बी यूनिवर्सिटी, 18 निजी यूनिवर्सिटी और 22 राज्य यूनिवर्सिटी ने 4 वर्षीय ग्रेजुएट कोर्स को चुना है.

ये पढ़े: PM Bal Seva Yojana: अभी जानिए किन बच्चों को सरकार से मिल सकता है 25000 हर महीना...

Leave a Comment

सरकारी योजना ग्रुप