Post Office Superhit Scheme: पोस्ट ऑफिस सुपरहिट योजना के माध्यम से 1 करोड़ रुपये की रिटर्न सुरक्षित करें

Post Office Superhit Scheme: जब बात पैसे को सही ढंग से निवेश करने की आती है, तो कई ऐसी योजनाएं हैं जो आपको समृद्ध बना सकती हैं। एक ऐसी ही योजना है पोस्ट ऑफिस की पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) योजना, जो लंबे समयावधि में एक महत्वपूर्ण धनराशि बनाने में मददगार होती है।

पोस्ट ऑफिस पीपीएफ योजना में सुरक्षित निवेश:

इस योजना की विशेषता यह है कि इसमें आपका निवेश पूरी तरह सुरक्षित होता है और यह बाजार के उतार-चढ़ाव से प्रभावित नहीं होता है। इसमें ब्याज दरें सरकार द्वारा निर्धारित की जाती हैं और प्रतितिमाही आधार पर समीक्षा की जाती हैं। पोस्ट ऑफिस में इस योजना के तहत ₹1 करोड़ तक ब्याज का लाभ उपलब्ध है। चलिए पूरी जानकारी के बारे में विस्तार से जानते हैं।

ये पढ़े: PM Garib Kalyan Anna Yojana Registration: जानिए, कौन-कौन से परिवारों को नई प्रधानमंत्री योजना के तहत अतिरिक्त लाभ प्राप्त होगा...

इस योजना का लाभ कैसे उठाएँ?

वर्तमान में पोस्ट ऑफिस पीपीएफ योजना में वार्षिक 7.1% ब्याज दर उपलब्ध है। आप पोस्ट ऑफिस या बैंक शाखा में सार्वजनिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) खाता खोल सकते हैं। इस खाते को ₹500 की न्यूनतम जमा से खोला जा सकता है और इसमें वार्षिक 1.50 लाख रुपये तक जमा किए जा सकते हैं। इस खाते की मैच्योरिटी 15 वर्षों की होती है। हालांकि, मैच्योरिटी के बाद इसे 5-5 वर्षों के ब्रैकेट में आगे बढ़ाने की भी सुविधा है।

क्या महीने के 12,500 रुपये निवेश करके करोड़पति बन सकते हैं?

यदि आप पीपीएफ खाते में हर महीने 12,500 रुपये जमा करते हैं और इसे 15 वर्षों तक रखते हैं, तो मैच्योरिटी पर आपको कुल ₹40.68 लाख मिलेंगे। इसमें आपका कुल निवेश ₹22.50 लाख होगा, जबकि ₹18.18 लाख ब्याज से प्राप्त होने वाली आय होगी।

कृपया ध्यान दें कि यह गणना आने वाले 15 वर्षों के लिए 7.1% वार्षिक ब्याज दर के आधार पर की गई है। यदि ब्याज दर में कोई परिवर्तन होता है, तो परिपक्वता राशि परिवर्तित हो सकती है। इस योजना में पीपीएफ में वार्षिक गणना की जाती है।

ये पढ़े: Crop Insurance Release Date: किसानों को मिलेगा बहुत फायदा, सरकार से मिली है खराब हुई फसलों के लिए 3 हजार रुपये की मंजूरी...

करोड़ों का लाभ:

यदि आप इस योजना से करोड़पति बनना चाहते हैं, तो आपको इसे 15 वर्षों बाद दो बार 5-5 वर्षों तक बढ़ाना होगा। अब आपकी निवेश अवधि 25 वर्ष हो गई है। इस तरह, 25 वर्षों बाद आपकी कुल धनराशि ₹1.03 करोड़ हो जाएगी। इस अवधि में आपका कुल निवेश ₹37.50 लाख होगा, जबकि ब्याज आय के रूप में ₹65.58 लाख मिलेंगे। कृपया ध्यान दें कि पीपीएफ खाते को मैच्योरिटी से एक साल पहले बढ़ाने के लिए आवेदन देना होगा। परिपक्वता के बाद खाते को बढ़ाया नहीं जा सकता है।

कर छूट पर लाभ:

पीपीएफ योजना का सबसे बड़ा लाभ यह है कि यह आयकर अधिनियम की धारा 80 के तहत कर छूट प्रदान करती है। इसमें स्कीम में ₹1.5 लाख तक के निवेश पर छूट उपलब्ध है। पीपीएफ में अर्जित ब्याज और परिपक्वता राशि पर भी कोई कर नहीं लगता है। इस तरह, पीपीएफ में निवेश ‘EEE’ श्रेणी में आता है।

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि सरकार छोटी बचत योजनाओं को प्रोत्साहित करती है। इसलिए सब्सक्राइबर्स को इसमें निवेश पर पूरी सुरक्षा मिलती है और इसमें अर्जित ब्याज पर सौवर्ण गारंटी होती है।

ये पढ़े: 8th वेतन आयोग के बारे में बड़ी अपडेट, जानें कब होगा लागू और कितनी बढ़ेगी सैलरी, हर साल वृद्धि?

Leave a Comment

सरकारी योजना ग्रुप