बैंक नहीं बताता अपने ग्राहकों को ये 8 बाते, जानकारी नहीं होने के कारण होता है बड़ा नुकसान-RBI Rules.

बैंक अक्सर आपसे छिपाते हैं ये 8 बातें

बैंक ग्राहकों को कई तरह की सेवाएं और उत्पाद प्रदान करते हैं। लेकिन इन सेवाओं और उत्पादों के साथ कई शर्तें और शुल्क जुड़े होते हैं। बैंक इन शर्तों और शुल्कों के बारे में ग्राहकों को अक्सर सही और पूरी जानकारी नहीं देते हैं। इससे ग्राहकों को नुकसान हो सकता है।

ये पढ़े: इस तारीख को आएंगे महिलाओं के खाते में छठी किस्त के 1250 रुपए-Ladli Behna Yojana.

यहां हम बैंकों द्वारा छिपाई जाने वाली 8 सबसे आम बातों के बारे में बता रहे हैं:

1. लंबे समय तक ग्राहक होने के लाभ

बैंक अपने पुराने और नियमित ग्राहकों को कई तरह के लाभ प्रदान करते हैं। जैसे कि ब्याज दरों में छूट, शुल्क में छूट, और अन्य विशेषाधिकार। लेकिन बैंक अक्सर इन लाभों के बारे में ग्राहकों को नहीं बताते हैं।

ये पढ़े: Hero Splendor Bike Price: 15 अगस्त तक मिलेगा यह स्वतंत्रता दिवस का ऑफर, हीरो स्प्लेंडर बाइक की कीमत में हुई गिरावट...

2. डेबिट कार्ड खो जाने पर सुरक्षा RBI Rules

डेबिट कार्ड खो जाने या चोरी होने पर ग्राहकों के खाते से पैसे निकाले जा सकते हैं। इससे ग्राहकों को आर्थिक नुकसान हो सकता है। लेकिन बैंक अक्सर ग्राहकों को यह नहीं बताते हैं कि कैसे अपने डेबिट कार्ड को सुरक्षित रखा जाए।

3. ज्यादा ब्याज दर वाले खाते RBI Rules

ये पढ़े: Pradhan Mantri Mandhan Yojana : हर महीने मिलेगी 3 हजार की पेंशन, कैसे होगा आवेदन।

बैंक कई तरह के खाते पेश करते हैं। कुछ खातों पर ज्यादा ब्याज मिलता है। लेकिन बैंक अक्सर ग्राहकों को इन खातों के बारे में नहीं बताते हैं।

4. एटीएम ट्रांजैक्शन की रसीदें

एटीएम से पैसे निकालने या पैसे जमा करने के बाद रसीद लेना जरूरी है। क्योंकि एटीएम में कभी-कभी गलती हो सकती है। अगर गलती हो जाए तो रसीद के आधार पर बैंक से शिकायत की जा सकती है। लेकिन बैंक अक्सर ग्राहकों को यह नहीं बताते हैं कि एटीएम ट्रांजैक्शन की रसीदें संभाल कर रखनी चाहिए।

5. लघु उद्योग लोन

लघु उद्योग लोन लेना एक मुश्किल काम है। क्योंकि बैंकों को छोटे व्यवसायों पर विश्वास नहीं होता है। बैंकों का मानना ​​है कि छोटे व्यवसाय मालिक अपने पैसे से बैंक चला सकते हैं और फिर बैंक को उनके पैसे के लिए उनके पीछे भागना पड़ सकता है।

6. चेक बाउंस होने पर जुर्माना RBI Rules

चेक बाउंस होने पर बैंक ग्राहकों पर जुर्माना लगाते हैं। लेकिन बैंक अक्सर ग्राहकों को यह नहीं बताते हैं कि चेक बाउंस होने से कैसे बचा जा सकता है।

7. बचत खाते में पैसे रखें

चेक बाउंस होने से बचने के लिए चेकिंग खाते में पैसे रखने की जरूरत नहीं है। आप बचत खाते में पैसे रख सकते हैं और चेक जारी करने से पहले चेकिंग खाते में पर्याप्त पैसे होने की जांच कर सकते हैं।

8. बैंक की शर्तें और शुल्क

बैंक अपने ग्राहकों को प्रदान की जाने वाली सेवाओं और उत्पादों के लिए शर्तें और शुल्क निर्धारित करते हैं। इन शर्तों और शुल्कों के बारे में जानकारी बैंक द्वारा प्रदान की जाने वाली दस्तावेजों में होती है। लेकिन बैंक अक्सर इन दस्तावेजों को इतना जटिल बना देते हैं कि ग्राहक उन्हें समझ नहीं पाते हैं।

बैंक की शर्तों और शुल्कों के बारे में जानकारी होना जरूरी

बैंक की शर्तों और शुल्कों के बारे में जानकारी होना जरूरी है। ताकि ग्राहकों को किसी भी तरह का नुकसान न हो। ग्राहकों को बैंक द्वारा प्रदान की जाने वाली दस्तावेजों को ध्यान से पढ़ना चाहिए। अगर कोई शर्त या शुल्क समझ में न आए तो बैंक से पूछना चाहिए।

यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं जिनसे आप बैंक की शर्तों और शुल्कों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं:

  • बैंक द्वारा प्रदान की जाने वाली दस्तावेजों को ध्यान से पढ़ें।
  • अगर कोई शर्त या शुल्क समझ में न आए तो बैंक से पूछें।
  • बैंक की वेबसाइट पर जाकर शर्तों और शुल्कों के बारे में जानकारी प्राप्त करें।
  • बैंकिंग से जुड़ी जानकारी के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन संसाधनों का उपयोग करें।

इन सुझावों का पालन करके आप बैंक की शर्तों और शुल्कों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते

Leave a Comment

सरकारी योजना ग्रुप